BREAKING NEWS

बिहार : बांग्लादेश की जेल में बंद राजेंद्र लौटेंगे वतन, 2 मार्च को पहुंचेंगे भारत

चार साल से बंद राजेन्द्र रविदास 2 मार्च को वापस अपने वतन लौटेंगे। यह मुमकिन हो सकेगा मानवाधिकार कार्यकर्ता विशाल रंजन दफ्तुआर के लगातार प्रयासों के द्वारा, जब राजेन्द्र वापस अपने वतन लौटेंगे तब विशाल के साथ पुलिस और राजेंद्र के परिजन मौजूद रहेंगे
  • Shivam Dixit

  • Published:27-02-2021 8:30:02
  • राज्य

पटना : बांग्लादेश की जेल में बीते चार साल से बंद राजेन्द्र रविदास 2 मार्च को वापस अपने वतन लौटेंगे। यह मुमकिन हो सकेगा मानवाधिकार कार्यकर्ता विशाल रंजन दफ्तुआर के लगातार प्रयासों के द्वारा, जब राजेन्द्र वापस अपने वतन लौटेंगे तब विशाल के साथ पुलिस और राजेंद्र के परिजन मौजूद रहेंगे।  आपको बता दें राजेंद्र रोजगार खोजते हुए दिल्ली और फिर वहां से पश्चिम बंगाल पहुंच गए थे, जिसके बाद बांग्लादेश की सीमा में बंगा पिपरा पुलिस ने उसे पकड़कर मुर्शिदाबाद जेल भेज दिया था। 


परिवार की तंगहाली दूर करना था मकसद, 4 साल से जेल में 

 राजेंद्र रविदास भागलपुर के लोदीपुर थाना क्षेत्र के उस्तु गांव के रहने वाले हैं।  उनकी उम्र 30  वर्ष के आसपास है।  2017  में दिल्ली गए थे जिससे परिवार की तंगहाली को दूर कर सकें लेकिन ऐसा हो न सका, वह वहां से बंगाल पहुंचे और उसके बाद बांग्लादेश की सीमा में बंगा पिपरा पुलिस ने उसे पकड़कर मुर्शिदाबाद जेल भेज दिया।  



बेहद तंगहाली में गुजारा करता है परिवार, मानसिक रोग से भी है ग्रसित 

ख़बरों की मानें तो राजेन्द्र मानसिक रोगी है और अनुसूचित जाति के एक बेहद गरीब परिवार से आता है जिसके कारण इस मामले को कोई  हाई प्रोफाइल वाला ट्रीटमेंट नहीं मिल सका था, जिसके चलते उन्हें 4  साल बांग्लादेश की जेल में बिताने पड़े।  इसके बाद अक्टूबर में विशाल रंजन दफ्तुआर ने राजेंद्र की पत्नी के अनुरोध पर इस मामले पर तब त्वरित संज्ञान लिया था। आपको बता दें इससे पहले परिवार पीएम, विदेश मंत्री और मुख्यमंत्री से फरियाद लगा चुका था।

     


नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें