BREAKING NEWS

तो क्या सऊदी के प्रिंस ने दी थी पत्रकार ख़ाशोज्जी की हत्या की मंज़ूरी, अमेरिकी रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

अमेरिका की ख़ुफ़िया एजेंसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2018 में सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशोज्जी की हत्या की मंजूरी सऊदी अरब के युवराज सलमान बिन मोहम्मद ने दी थी। आपको बता दें बाइडन प्रशासन द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में कहा गया कि सऊदी अरब के युवराज ने इस योजना को अपनी सहमति दी थी जिसके चलते अमेरिका में रह रहे सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशोज्जी को या तो ज़िंदा पकड़ने या मारने का फ़ैसला किया गया था।
  • Shivam Dixit

  • Published:27-02-2021 11:05:58
  • दुनिया

दिल्ली : अमेरिका की खुफिया एजेंसी में एक बड़ा खुलासा हुआ है, जिसमे यह कहा गया है की सऊदी अरब के युवराज सलमान बिन मोहम्मद ने निर्वासन में रह रहे सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशोज्जी की हत्या की मंज़ूरी दी थी। आपको बता दें बाइडन प्रशासन द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में कहा गया कि सऊदी अरब के युवराज ने इस योजना को अपनी सहमति दी थी जिसके चलते अमेरिका में रह रहे सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशोज्जी को या तो ज़िंदा पकड़ने या मारने का फ़ैसला किया गया था।   

       
पहली बार साधा प्रिंस पर सीधा निशाना 

इस मामले को लेकर अमेरिका ने पहली बार ख़ाशोज्जी की हत्या के लिए सीधे पर तौर सऊदी क्राउन प्रिंस का नाम लिया है। हालांकि सऊदी के युवराज इस बात का लगातार खंडन करते रहे हैं कि उन्होंने जमाल ख़ाशोज्जी की हत्या के आदेश दिए थे। आपको बता दें साल 2018 में सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशोज्जी की इस्तांबूल स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास के अंदर हत्या कर दी गई थी। उस वक़्त ख़ाशोज्जी अपने कुछ निजी दस्तावेज़ हासिल करने के लिए वाणिज्य दूतावास के अंदर गए थे।  

 


रिपोर्ट में क्या कहा गया ? 

अमेरिका द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि, 'हमारा यह आंकलन है कि सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने इस्तांबूल में एक ऑपरेशन की मंज़ूरी दी जिसका उद्देश्य था सऊदी पत्रकार जमाल  ख़ाशोज्जी को ज़िंदा पकड़ना या मार देना।' 2018 में ही अमेरिकी ख़ुफ़िया विभाग CIA का मानना था कि सऊदी क्राउन प्रिंस ने ही जमाल ख़ाशोज्जी की हत्या के आदेश दिए थे लेकिन इससे पहले कभी अमेरिका की तरफ से खुलकर सऊदी क्राउन प्रिंस का नाम नहीं लिया गया।  

ट्रम्प के जाते ही अमेरिका की नीति  में दिखा बदलाव 




इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद यह माना जा रहा है कि अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन अपने से पहले के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तुलना में सऊदी अरब में मानवाधिकार और क़ानून के शासन के प्रति सख़्त नीति अपनाएंगे।     
 
नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें