-
BREAKING NEWS

पत्र में फिर छलका मंत्री ब्रजेश पाठक का दर्द, बोले-मेरी विधायक निधि ले लो, लेकिन करो कोरोना टेस्ट

लखनऊ। राजधानी में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच एक बार फिर योगी सरकार में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक का पत्र सामने आया है। ब्रजेश पाठक ने जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश को पत्र लिखकर अपनी विधायक निधि से कोरोना जांच कराने की गुहार लगाई है।
  • Bhupendra Singh Chauhan

  • Published:15-04-2021 18:21:40
  • उत्तर प्रदेश

लखनऊ। राजधानी में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच एक बार फिर योगी सरकार में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक का पत्र सामने आया है। ब्रजेश पाठक ने जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश को पत्र लिखकर अपनी विधायक निधि से कोरोना जांच कराने की गुहार लगाई है। मंत्री ने लिखा कि, मेरे क्षेत्र के लोगों को निःशुल्क RT-PCR जांच मिले। इसके लिए मेरी विधायक निधि का इस्तेमाल कीजिए।






कानून मंत्री ने जिलाधिकारी को लिखे पत्र में साफ़ किया कि, अस्थाई कोरोना टेस्ट सेंटर खोले जाएं और लोगों की निःशुल्क कोरोना जांच की जाए। मंत्री ने कोरोना सेंटरों के लिए जगह की उपलब्धता को बताते हुए लिखा कि, बारात घर, कल्याण मंडप में अस्थाई अस्पताल बनाएं। इसके लिए उन्होंने अपनी विधायक निधि से एक करोड़ रुपए जारी किए हैं।






कानून मंत्री के लिखे पात्र से साफ़ है कि, वह कितना बेबस हैं। पहले तो वह योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री दूसरा प्रमुख मंत्रालय यानी कानून मंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे ब्रजेश पाठक कोरोना मामले में लोगों की मदद कर पाने में पूरी तरफ हतोत्साहित नजर आ रहे हैं। जिसके बाद वह पत्र के माध्यम से अपनी व्यथा को व्यक्त कर रहे हैं। बता दें कि, इससे पहले भी ब्रजेश पाठक का एक पत्र वायरल हुआ था, जिसमें वह पीड़ितों को एम्बुलेंस न मिलने वजह से दुःखी थे।



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें