-
BREAKING NEWS

हरिद्वार महाकुंभ बना कोरोना का सबसे बड़ा हॉट-स्पॉट, हजारों लोग संक्रमित

एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना महामारी के प्रकोप से त्रस्त है वहीं दूसरी तरफ उत्तराखंड के हरिद्वार में महाकुंभ आयोजित किया जा रहा है। सरकार भले ही यहां कोरोना नियमों का पालन कराने के बड़े बड़े दावे करती हो, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ दूसरा ही बयां कर रही है।
  • Bhupendra Singh Chauhan

  • Published:15-04-2021 19:01:58
  • उत्तर प्रदेश

एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना महामारी के प्रकोप से त्रस्त है वहीं दूसरी तरफ उत्तराखंड के हरिद्वार में महाकुंभ आयोजित किया जा रहा है। सरकार भले ही यहां कोरोना नियमों का पालन कराने के बड़े बड़े दावे करती हो, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ दूसरा ही बयां कर रही है। यहां मेला क्षेत्र कोरोना विरस का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट बनता नजर आ रहा है। यहां हजारों लोगों के कोरोना संक्रमित होने की ख़बरें सामने आई हैं।



 
जानकारी के अनुसार, हरिद्वार कुंभ मेला क्षेत्र में 10 से 14 अप्रैल के बीच यानि कि महज 4 दिनों के अंदर 1700 से अधिक लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। आशंका जताई जा रही है कि विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक जमावड़ा कोविड-19 के मामलों में आ रहे, जबरदस्त उछाल को और तेज कर सकता है। स्वास्थ्य कर्मियों ने मेला क्षेत्र में इन पांच दिनों में 2,36,751 कोविड जांच कीं, जिनमें से 1701 लोगों की रिपोर्ट में उनके महामारी से ग्रस्त होने की पुष्टि हुई।



 
हरिद्वार के मुख्य चिकित्साधिकारी शंभु कुमार झा के मुताबिक, इस संख्या में श्रद्धालुओं और विभिन्न अखाड़ों के साधु-संतों की हरिद्वार से लेकर देवप्रयाग तक पूरे मेला क्षेत्र में पांच दिनों में की गई RT-PCR और रैपिड एंटीजन जांच दोनों के आंकड़े शामिल हैं। उन्होंने बताया कि अभी RT-PCR जांच के और भी नतीजे आना बाकी हैं। इस परिस्थिति को देखते हुए कुंभ मेला क्षेत्र में संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 2000 के पार निकलने की पूरी आशंका है।

 


हरिद्वार, टिहरी और ऋषिकेश सहित देहरादून जिले के विभिन्न भागों में 670 हेक्टेयर क्षेत्रफल में महाकुंभ क्षेत्र फैला हुआ है। बीते सोमवार को सोमवती अमावस्या तथा बुधवार को मेष संक्रांति और बैसाखी के पर्व पर हुए दोनों शाही स्नानों में गंगा में डुबकी लगाने वाले 48.51 लाख श्रद्धालुओं में से ज्यादातर लोग बिना मास्क पहने और सामाजिक दूरी रखने जैसे कोविड से बचाव के नियमों का उल्लंघन करते नजर आए।



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें