-
BREAKING NEWS

कोरोना के खिलाफ भारत की लड़ाई हुई मजबूत रूस की वैक्सीन स्पूतनिक V की पहली खेप पहुँची भारत

भारत में निर्मित स्वदेशी वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सिन के साथ कोरोना के खिलाफ जंग जारी है, अब रुसी वैक्सीन के आ जाने से भारत में जारी टीकाकरण को गति मिलेगी आपके बता दें कि भारत ने हाल ही में रूसी वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी थी।
  • Bharat Samachar News Desk

  • Published:01-05-2021 17:53:56
  • देश


दिल्ली : भारत में जारी कोरोना कहर के बीच विदेश से भारत को मिलने वाली सहायता लगातार जारी है इसी क्रम में भारत के पुराने और सहयोगी रूस ने भारत को रुसी वैक्सीन स्पूतनिक V की पहले 1.5 लाख डोज की पहली खेप भारत को भेजी थी जिसको  लेकर रूसी विमान शनिवार को करीब 4 बजे हैदराबाद में लैंड किया। इसके साथ ही देश को कोरोना के खिलाफ तीसरा हथियार मिल गया है। आज ही देश में टीकाकरण के पहले फेज की शुरुआत हुई है, जिसे स्पूतनिक वी के आने से तेजी मिलेगी।





भारत में  निर्मित स्वदेशी वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सिन के साथ कोरोना के खिलाफ जंग जारी है, अब रुसी वैक्सीन के आ जाने से भारत में  जारी टीकाकरण को गति मिलेगी आपके बता दें कि भारत ने हाल ही में रूसी वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी थी। 




स्पुतनिक वी मानव एडेनोवायरल वैक्टर पर आधारित है, तीन वैक्सीन में से एक है (अन्य दो फाइजर और मॉडर्ना की बनाई हुई हैं) जिनमें कोरोनोवायरस बीमारी के खिलाफ 90 प्रतिशत से अधिक प्रभावकारिता है, जो एसएआरएस-सीओवी -2 के कारण होती है। इसे 12 अप्रैल को भारत में विनियामक अनुमोदन या आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी गई थी।



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें