-
BREAKING NEWS

CBSE 20 जून को घोषित करेगा दसवीं का परीक्षा परिणाम, इस स्कीम से होगी मार्किंग ?

CBSE रिजल्ट: कोरोना महामारी को देखते हुए CBSE बोर्ड सहित अन्य बोर्डों के एग्जाम बढ़ा दिए गए थे। लेकिन अब CBSE अपने 10वीं कक्षा के बोर्ड एग्जाम को रद्द करते हुए रिजल्ट को घोषित करने की तैयारी बना रहा है।
  • Bhupendra Singh Chauhan

  • Published:02-05-2021 13:05:15
  • देश

CBSE रिजल्ट: कोरोना महामारी को देखते हुए CBSE बोर्ड सहित अन्य बोर्डों के एग्जाम बढ़ा दिए गए थे। लेकिन अब CBSE अपने 10वीं कक्षा के बोर्ड एग्जाम को रद्द करते हुए रिजल्ट को घोषित करने की तैयारी बना रहा है। CBSE दसवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम 20 जून को घोषित करेगा। इसके लिए CBSE ने एक नई स्कीम तैयार की है। इसके तहत इस वर्ष कक्षा दसवीं के छात्र/छात्राओं की परीक्षा नहीं करवाई जाएगी बल्कि उन्हें पास किया जाएगा। 


ज्ञातव्य हो कि, इस वर्ष कोरोना वायरस की वजह से CBSE के दसवीं कक्षा के छात्रों को इंटरनल असेसमेंट के जरिए पास किया जाएगा। बोर्ड ने आधिकारिक वेबसाइट cbse.gov.in पर 10वीं बोर्ड के लिए अंक तय करने की नीति घोषित की है। इसके लिए कुल 100 नंबरों को 20 नंबर और 80 नंबर में बांटा गया है। स्कूलों द्वारा बोर्ड परीक्षाओं के लिए किए गए इंटरनल मार्किंग के आधार पर 20 नंबर दिए जाएंगे। 



शेष बचे 80 नंबर छात्रों को स्कूलों द्वारा आयोजित परीक्षाओं में उनके प्रदर्शन के आधार पर दिए जाएंगे। 80 नंबरों में से 10 नंबर पीरियोडिक/यूनिट टेस्ट और 30 नंबर अर्धवार्षिक और 40 नंबर प्री-बोर्ड के आधार पर मिलेंगे। यह नई मार्किंग पॉलिसी छात्रों द्वारा चुने गए 5 मुख्य विषयों के स्कोर की गणना के लिए है। यदि किसी छात्र ने छह या उससे ज्यादा विषयों के लिए पंजीकरण किया है तो उसके छठवें विषय के लिए स्कोर की गणना अधिकतम प्राप्त नंबरों में से सबसे ज्यादा 3 नंबरों के औसत नंबरों के आधार पर किया जाएगा। 



आपको बता दें कि, जो विद्यार्थी मार्किंग के बाद भी पास नहीं होंगे तो उनको ग्रेस मार्क्स दिए जाएंगे। यदि विद्यार्थी ग्रेस नंबरों के बाद भी फेल होते हैं तो उनको फिर से परीक्षा देने का मौका मिलेगा। बोर्ड ने स्कूलों को नतीजों को अंतिम रूप देने के लिए प्रिंसिपल और 7 शिक्षकों वाली एक परिणाम समिति बनाने के लिए कहा है। जिसमें गणित, सामाजिक विज्ञान, विज्ञान और दो भाषाओं के शिक्षक होने चाहिए। 



पड़ोसी स्कूलों के 2 शिक्षकों को समिति के बाहरी सदस्यों के रूप में चुना जाएगा। सभी स्कूलों को अपने रिजल्ट से जुड़ी प्रक्रिया ऑनलाइन अपलोड करनी होगी। स्कूलों से 25 मई तक रिजल्ट को फाइनल करने के लिए कहा गया है। बोर्ड के पास सभी स्कूल  5 जून तक रिजल्ट जमा करा देंगे। आपको बता दें कि, इस साल कोरोना की वजह से बोर्ड ने दसवीं की परीक्षा रद्द कर दी थी।



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें