-
BREAKING NEWS

कोरोना तबाही: लखनऊ के श्मशान घाटों में एडवांस मंगाई जा रही लकड़ियां, कब्रगाह में खुद रही एडवांस कब्रें

लखनऊ: राजधानी में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से कोहराम मचा हुआ है। अस्पतालों न बेड है, न ऑक्सीजन है और न ही आवश्यक दवाएं मिल रही हैं। नतीजा यह है कि, मरीज तड़प तड़प कर दम तोड़ रहे हैं। सरकार के जिम्मेदार अधिकारी गलत आंकड़े बताकर सरकार को गुमराह कर रहे हैं।
  • Bhupendra Singh Chauhan

  • Published:02-05-2021 15:21:31
  • उत्तर प्रदेश

लखनऊ: राजधानी में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से कोहराम मचा हुआ है। अस्पतालों न बेड है, न ऑक्सीजन है और न ही आवश्यक दवाएं मिल रही हैं। नतीजा यह है कि, मरीज तड़प तड़प कर दम तोड़ रहे हैं। सरकार के जिम्मेदार अधिकारी गलत आंकड़े बताकर सरकार को गुमराह कर रहे हैं। इसका वास्तविक दृश्य राजधानी स्थित भैंसाकुंड श्मशान घाट पर देखने को मिल रही है।



बताते चलें कि, भैंसा कुंड श्मशान घाट में सुबह से ही शवों की कतार लग जाती है। सुबह 9 बजे  तक ही यहां एक दर्जन से अधिक शव पहुंच चुके थे और अन्य शवों का पहुंचना जारी था। शवों के अंतिम संस्कार के लिए नगर निगम की तरफ से पहले से ही लकड़ियां मंगाई जा रही हैं, कई शवों का अंतिम संस्कार विद्युत् शवदाह गृह में भी किया गया। बेड, ऑक्सीजन और दवाओं के अभाव में लोग बड़ी संख्या में दम तोड़ रहे हैं।



यही नहीं लखनऊ के ऐशबाग स्थित कब्रिस्तान में भी बड़ी संख्या में शव दफ़न किए जा रहे हैं। 1 अप्रैल से 30 अप्रैल तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो यहां 30 दिन में 730 शव दफनाए गए। यानी एक दिन में करीब 34 से अधिक शव दफनाए गए। कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ने से मौतों का सिलसिला बढ़ गया है। अत्यधिक शव आने से यहां पहले से ही कब्रें खोदनी पड़ रही हैं।  



गौरतलब है कि, राजधानी लखनऊ की बात करें तो यहां की स्थिति काफी बदहाल है। यहां ऑक्सीजन की कमी कम होने का नाम नहीं ले रही है। मरीज और उनके तीमारदार लगातार ऑक्सीजन के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। सभी ऑक्सीजन प्लांटों पर लोगों की लंबी-लंबी कतारें लगी है। लोग पूरा-पूरा दिन इन्तजार कर रहे हैं, इसके बावजूद उन्हें ऑक्सीजन नहीं मिल रही है। घर में आइसोलेट मरीज जिंदा रहने के लिए एक-एक सांस के लिए संग्राम कर रहे हैं। यही नहीं उनके परिजन भी अपनों की जिंदगी बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।



   
नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें