-
BREAKING NEWS

सावधान !, आप भी अगर कोरोना से पीड़ित हैं और कर रहे हैं ये गलती तो हो सकता है कैंसर

एम्स निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने CT Scan को लेकर एक बड़ा बयान दिया है जिसके बाद आपको यह जान लेना चाहिए की कहीं आप भी तो यह गलती नहीं कर रहे हैं। डॉ रणदीप गुलेरिया ने बताया कि जो भी मरीज बार-बार सीटी स्कैन करा रहे हैं वो जान लें कि वो एक बड़ा खतरा मोल रहे हैं
  • Shivam Dixit

  • Published:03-05-2021 17:52:59
  • कोरोना

दिल्ली : कोरोना से हालात देश में कुछ इस कदर बिगड़े हैं कि लोग घबराकर हर सलाह को मान ले रहे हैं और इसका नुकसान भी झेल रहे हैं। कोरोना जब जांच में नहीं डिटेक्ट हो रहा तो लोगों से CT Scan कराना  शुरू कर दिया, इसी को लेकर अब एक बड़ी खबर सामने आ आ रही है। मामला दरअसल यह है कि एम्स निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने CT Scan को लेकर एक बड़ा बयान दिया है जिसके बाद आपको यह जान लेना चाहिए की कहीं  आप भी तो यह गलती नहीं कर रहे हैं। डॉ रणदीप गुलेरिया ने बताया कि जो भी मरीज बार-बार सीटी स्कैन करा रहे हैं वो जान लें कि वो एक बड़ा खतरा मोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीटी स्कैन से कैंसर होने का खतरा हो रहा है। 

डर के मारे सीटी स्कैन करा रहे हैं लोग, जानें क्या बोले डॉ. गुलेरिया ? 

कोरोना से बचाव को लेकर हरे व्यक्ति चिंतित है, इसी के चलते डॉ. गुलेरिया ने बताया कि रेडिएशन के एक डेटा का विश्लेषण करने पर पता चलता है कि लोग तीन-तीन दिन में सीटी स्कैन करा रहे हैं।  उन्होंने आगे बताया 'कि अगर आप पॉजिटिव हैं और आपको हल्के लक्षण हैं तो आपको सीटी स्कैन कराने की कोई जरूरत नहीं है। क्योंकि सीटी स्कैन कराने में जो रिपोर्ट सामने आती है उसमें थोड़ी बहुत चकत्ते आ जाते हैं जिसको देखकर मरीज परेशान हो जाता हैं। 



हल्के लक्षण वाले मरीजों को लेकर क्या बोले डॉ गुलेरिया ?  

आप कोरोना पॉजिटिव हैं और आपको साँस लेने में कोई दिक्कत नहीं हो रही है, इसके अलावा आपका ऑक्सिजन लेवल ठीक है और तेज बुखार नहीं आ रहा है तो बिल्कुल घबराने की जरूरत नहीं है। यह हम नहीं कह रहे बल्कि यह कहना है डॉ. गुलेरिया का, उन्होंने कहा कि 'पॉजिटिव मरीज को ज्यादा दवाएं लेनी चाहिए। ये दवाएं उल्टा असर करती हैं और मरीज की सेहत खराब होने लगती है। एम्स डायरेक्टर ने कहा कि लोग बार-बार खून की जांच करवाते हैं जबकि जब तक डॉक्टर न कहें तो खुद से ही ये सब न करें। इससे आपको और टेंशन पैदा होती है।

क्यों हो रहा कैंसर का खतरा ?

एम्स निदेशक ने कहा होम आइसोलेशन में रह रहे लोग अपने डॉक्टर से संपर्क करते रहें। सेचुरेशन 93 या उससे कम हो रही है, बेहोशी जैसे हालात हैं, छाती में दर्द हो रहा है तो एकदम डॉक्टर से संपर्क करें। उन्होंने आगे कहा कि आजकल बहुत ज़्यादा लोग सीटी स्कैन करा रहे हैं। जब सीटी स्कैन की जरूरत नहीं है तो उसे कराकर आप खुद को नुकसान ज़्यादा पहुंचा रहे हैं क्योंकि आप खुद को रेडिएशन के संपर्क में ला रहे हैं। इससे बाद में कैंसर होने की संभावना बढ़ सकती है। 

 



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें