-
BREAKING NEWS

अब आसमान से बरसेगी तबाही, जानें 21 टन वजनी चीनी रॉकेट धरती पर गिरा तो कहां मचा सकता है तबाही ?

चीन पर कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगता रहा है, इसके बाद अब आसमान से भी एक निराश करने वाली खबर सामने आ रही है। चीन का लॉग मार्च 5बी रॉकेट अंतरिक्ष में बेलगाम हो गया है और यह 4 मील प्रति सेकंड की रफ्तार से धरती की ओर आ रहा है, यह रॉकेट धरती से टकराने पर भारी तबाही मचा सकता है...
  • Shivam Dixit

  • Published:04-05-2021 17:04:14
  • दुनिया

दिल्ली : चीन लगातार ऐसे प्रयोग और परीक्षण को लेकर चर्चा में बना रहता है जिससे पूरी मानव जाती पर खतरा बन पड़ता है। अब उसकी मंशा अंतरिक्ष में बादशाहत कायम करने की है।  इसी के चलते एक के बाद एक कई रॉकेट लॉन्‍च कर रहा चीन दुनिया की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बन गया है। चीन का एक 21 टन वजनी विशालकाय रॉकेट अंतरिक्ष में अनियंत्रित हो गया है और यह अब पृथ्‍वी की ओर बढ़ रहा है।

माना  जा रहा है कि, 'चीन का यह भारी भरकम रॉकेट कहां पर गिरेगा, इसका अभी ठीक-ठीक पता नहीं चल पाया है। विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि चीनी रॉकेट पृथ्‍वी पर अगर किसी आबादी वाले इलाके से टकराता है तो भारी तबाही हो सकती है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि इस रॉकेट का मलबा न्‍यूयॉर्क, मैड्रिड और पेइचिंग जैसे शहरों में कहीं भी गिर सकता है।

 


जानें किन शहरों में मच सकती है तबाही ? 

आपको बता दें चीन ने हाल ही में अपने लॉन्‍ग मार्च 5बी रॉकेट को लॉन्‍च किया था और विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि आने वाले कुछ दिनों में यह पृथ्‍वी पर कहीं भी गिर सकता है। पृथ्‍वी के चक्‍कर लगाने ऑब्‍जेक्‍ट की निगरानी करने वाले खगोलविद जोनाथन मैकडोवेल ने स्‍पेस न्‍यूज से कहा कि अभी इस सैटलाइट का रास्‍ता न्‍यूयॉर्क, मैड्रिड, पेइचिंग से उत्‍तर की ओर और दक्षिण में चिली तथा न्‍यूजीलैंड की ओर ले जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि इस दायरे में यह चीनी रॉकेट कहीं भी टकरा सकता है। यह समुद्र या आम जनसंख्‍या वाले इलाके में गिर सकता है। 


इसके अलावा उन्‍होंने यह भी कहा कि धरती के नजदीक आने पर इस चीनी रॉकेट का काफी हिस्‍सा जलकर राख हो जाएगा। सैटलाइट ट्रैकर ने पता लगाया है कि 100 फुट लंबा चीनी रॉकेट 4 मील प्रति सेकंड की रफ्तार से धरती की ओर बढ़ रहा है। चीन ने गुरुवार को इस रॉकेट की मदद से अंतरिक्ष में बनाए जाने वाले अपने स्‍पेस स्‍टेशन का पहला हिस्‍सा भेजा था। इस मॉड्यूल का नाम तियान्हे  रखा गया है। 

विशेषज्ञों के मुताबिक 21 टन वजनी यह ऑब्‍जेक्‍ट चीन के लॉन्‍ग मार्च 5बी रॉकेट का मुख्‍य चरण है। उन्‍होंने बताया कि गुरुवार को लॉन्‍च क‍िए जाने के बाद यह रॉकेट समुद्र में पहले से निर्धारित जगह पर गिरने की बजाय धरती के चक्‍कर लगाने लगा। बताया जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में यह धरती पर गिरेगा। रॉकेट का यह मुख्‍य हिस्‍सा 100 फुट लंबा और 16 फुट चौड़ा है। विशेषज्ञों का कहना है कि चीनी रॉकेट का यह विशाल हिस्‍सा काफी कुछ पृथ्‍वी के वातावरण में जल जाएगा लेकिन इसका मलबा धरती पर कहीं भी गिर सकता है। 


पहले भी चीन कर चुका  है ऐसी गुस्ताखियां, नासा ने बताया था खतरनाक 

आपको जानकार हैरानी होगी कि चीन इससे पहले भी ऐसी हिमाकत करता रहा है इससे पहले मई 2020 में लॉन्‍ग मार्च 5बी रॉकेट का मुख्‍य हिस्‍सा अनियंत्रित हो गया था और अटलांटिक महासागर के ऊपर उसका मलबा गिरा था। नासा ने चीनी रॉकेट के इस हादसे को वास्‍तविक रूप से खतरनाक बताया था। गिरने से पहले यह रॉकेट अमेरिका के लॉस एंजीलिस और न्‍यूयॉर्क शहर के ऊपर से गुजरा था।  

 



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें