-
BREAKING NEWS

कोरोना काल में मेडिकल उपकरणों में हो रही जमकर मुनाफाखोरी, 500 वाला ऑक्सीमीटर 2500 रुपये में

एक महीने में दवाओं की खपत और मांग के साथ कालाबाजारी की वजह से कंपनियों ने दवाओं के दाम में 30 फीसदी बढ़ा दिए हैं। थर्मामीटर, आक्सीमीटर, मॉस्क, ग्लब्स और सेनेटाइजर, वेपोराइजर, ब्लड प्रेशर मापने की मशीन और ग्लूकोमीटर कई गुना अधिक दामों पर बेचा जा रहा है। आपको बात दे कि जो थर्मामीटर पहले 80 से 100 रुपए में मिलता था वह आज 250 से 300 रुपए में मिल रहा है यही नहीं कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीमीटर की बड़ी डिमांड रही जो ऑक्सीमीटर पहले 500 से 800 रुपये में मिलता था वह आज 2000 से 2500 रुपये का मिल रहा है यही नहीं 200 से 250 रुपये में मिलने वाला वेपोराइजर अब 500 से 600 रुपये में मिल रहा है
  • Bharat Samachar News Desk

  • Published:05-05-2021 14:11:44
  • कोरोना


लखनऊ :  देश और प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है इसी बीच कुछ लोग इस आपदा में भी अवसर तलाशने से नहीं चूक रहे है और जमकर मुनाफा वसूली कर रहे है कोरोना के चलते दवाओं के साथ थर्मामीटर व ऑक्सीमीटर की भारी किल्लत बढ़ गई है। 100 रुपये वाला थर्मामीटर 300 से ज्यादा और 500 वाला ऑक्सीमीटर दो से ढाई हजार रुपये में मिल रहा है। अधिकतर मेडिकल स्टोरों पर यह उपलब्ध भी नहीं है। ऐसे में कई मेडिकल स्टोरों के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं।



एक महीने में दवाओं की खपत और मांग के साथ कालाबाजारी की वजह से कंपनियों ने दवाओं के दाम में 30 फीसदी बढ़ा दिए हैं। थर्मामीटर, आक्सीमीटर, मॉस्क, ग्लब्स और सेनेटाइजर, वेपोराइजर, ब्लड प्रेशर मापने की मशीन और ग्लूकोमीटर कई गुना अधिक दामों पर बेचा जा रहा है। आपको बात दे कि जो थर्मामीटर पहले 80 से 100 रुपए में मिलता था वह आज 250 से 300 रुपए में मिल रहा है यही नहीं कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीमीटर की बड़ी डिमांड रही जो ऑक्सीमीटर पहले 500 से 800 रुपये में मिलता था वह आज 2000 से 2500 रुपये का मिल रहा है यही नहीं 200 से 250 रुपये में मिलने वाला वेपोराइजर  अब 500 से 600 रुपये में मिल रहा है 




एक माह में खपत और मांग कई गुना बढ़ गई है। थोक कारोबारी मांग पूरी नहीं कर पा रहे हैं। कंपनियों से भी दवाएं नही मिल पा रही हैं। इस कारण दवाओं की किल्लत बढ़ गई है। कुछ लोग चोरी छुपे दवाओं की कालाबाज़ारी कर रहे हैं।



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें