BREAKING NEWS

LJP में बगावत: चाचा से मिलने पहुंचे चिराग पासवान को 15 मिनट तक नहीं मिला घर में प्रवेश, गेट पर रहे खड़े

उत्तर प्रदेश में जो स्थिति एक समय समाजवादी पार्टी की थी, वही अब बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी की होती दिख रही है।
     
  •       Bhupendra Singh Chauhan
  •      Published:14-06-2021 14:52:41
  • राज्य
उत्तर प्रदेश में जो स्थिति एक समय समाजवादी पार्टी की थी, वही अब बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी की होती दिख रही है। लोजपा में इन दिनों चाचा और भतीजे के बीच पैदा हुए मतभेदों ने पार्टी में खलबली मचा रखी है। कहीं न कहीं लोजपा में बगावत की आहट दिखाई दे रही है। यानी राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान और चाचा पशुपति के बीच खींचतान जारी है।



अब पार्टी में बगावत के बीच चिराग पासवान अपने चाचा और हाजीपुर से सांसद पशुपति पारस से मिलने उनके घर पहुंचे। इस दौरान चाचा पशुपति पारस के घर में एंट्री लेने के लिए चिराग पासवान को गेट पर 15 मिनट का इंतजार करना पड़ा। आपको बता दें कि, LJP में टूट की खबरें सामने आ रही हैं। खबर के मुताबिक, लोजपा  के 5 सांसदों ने चिराग को नेता मानने से इनकार कर दिया है। 






यही नहीं इन लोगों ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर पशुपति पारस को संसदीय दल का नेता बनाए जाने का आग्रह किया है। बता दें कि, इससे पहले पशुपति पारस ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि, हमारी पार्टी के 6 सांसद हैं। पार्टी के 5 सांसदों ने इसे बचाने की इच्छा जाहिर की थी। उन्होंने कहा कि, मैंने पार्टी को नहीं तोड़ा है, इसे बचाया है। 



चिराग पासवान मेरे भतीजे होने के साथ-साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। मुझे उनके खिलाफ कोई आपत्ति नहीं है। कोई आपत्ति नहीं है, वे पार्टी में रहें। पशुपति पारस ने आगे कहा कि, मैं अकेला महसूस कर रहा हूं। पार्टी की बागडोर जिनके हांथ में गई। पार्टी के 99% कार्यकर्ता, सांसद, विधायक और समर्थक सभी की इच्छा थी कि हम 2014 में NDA गठबंधन का हिस्सा बनें और इस बार के विधानसभा चुनाव में भी हिस्सा बने रहें।



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें