BREAKING NEWS

हाईकोर्ट की फटकार के बाद भी एक लाख के इनामी IPS मणिलाल की नहीं हुई गिरफ़्तारी, पुलिस निष्क्रिय 

हाईकोर्ट की फटकार के बाद भी पुलिस अभी तक एक लाख के इनामी फरार आईपीएस अधिकारी मणिलाल पाटीदार को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।
     
  •       Bhupendra Singh Chauhan
  •      Published:16-06-2021 13:34:23
  • उत्तर प्रदेश
लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस पर कानून व्यवस्था को बरकरार रखने के लिए हमेशा से दोहरा रवैया अपनाए जाने की आरोप लगते रहे हैं। पुलिस पर आम आदमी और ख़ास आदमी यानी व्यक्तियों का चेहरा देखकर कार्रवाई करने के आरोप आम हैं। इसी कड़ी में अब एक और मामला सामने आया है जिसमें पुलिसिया कार्रवाई पर सवाल खड़े हो रहे हैं। 


मामला राजधानी का है। यहां हाईकोर्ट की फटकार के बाद भी पुलिस अभी तक एक लाख के इनामी फरार आईपीएस अधिकारी मणिलाल पाटीदार को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। अब इसमें यह भी संदेह है कि, पुलिस गिरफ्तार कर नहीं पाई है या फिर गिरफ्तार करना नहीं चाहती है। बता दें एसपी मणिलाल पाटीदार पर हत्या जैसे जघन्य अपराध का इल्जाम है। 


गौरतलब है कि, मणिलाल पाटीदार महोबा जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) थे। जिले के कबरई थाना क्षेत्र के रहने वाले क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी को 8 सितंबर 2020 के दिन संदिग्ध हालत में गोली लग गई थी। इंद्रकांत ने उपचार के दौरान कानपुर के एक निजी अस्पताल में 13 सितंबर को दम तोड़ दिया था। इंद्रकांत की मौत के बाद उनके भाई ने तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। 




इंद्रकांत के भाई रविकांत ने मणिलाल पाटीदार, कबरई के थाना प्रभारी देवेंद्र शुक्ला, सिपाही अरुण यादव, व्यापारी ब्रह्मनंद और नरेश सोनी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था। रविकांत ने मणिलाल पाटीदार द्वारा मृतक व्यापारी से पांच लाख महीने का एक्सटॉर्शन मांगने का आरोप लगाया था। शिकायत के बाद शासन ने मणिलाल पाटीदार को सेवा से निलंबित कर दिया था। तब से पुलिस पाटीदार की गिरफ्तारी के लिए हाथ-पैर मार रही है। 


इसके बाद हाईकोर्ट ने मामले में SIT टीम को कड़ी फटकार लगाई, इसके बाद भी अभी तक मणिलाल पाटीदार की गिरफ़्तारी नहीं हो सकी है। मामले को करीब एक वर्ष हो रहे हैं लेकिन पुलिस पूरी तरह निष्क्रिय बानी हुई है और एक लाख का अपराधी बेख़ौफ़ होकर खुला घूम रहा है। यदि कहें कि, पाटीदार को पकड़ने में पुलिस की कोई दिलचस्पी नहीं है तो गलत नहीं होगा। 



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें