पुलिस ज्यादती से तंग आरएसएस नेता के बेटे ने की खुदकशी, 11 पुलिसवाले लाइन हाजिर, इंस्पैक्टर समेत 5 पर केस दर्ज

बदला लेने के लिए बिनौली इंस्पैक्टर चंद्रकांत पांडे अपने और पास के एक थाने की पुलिस को लेकर गांव में घुसे और उन्होंने कई घरों में घुसकर मारपीट और तोड़फोड़ की. आरएसएस नेता श्रीनिवास के घर में घुसकर उनके घर की महिलाओं से मारपीट की गई. महिलाओं से दुर्व्यवहार और गाली-गलौज भी की गई. गनीमत रही कि उस समय कोई पुरुष घर पर नहीं था. मारपीट करने के बाद पुलिस 2 महिलाओं को घर से थाने भी उठा लाई थी.
     
  • उत्तर प्रदेश
बागपत में आरएसएस नेता के पुत्र के आत्महत्या मामले में 11 पुलिस वालों को लाइन हाजिर कर दिया गया है. आरएसएस नेता की शिकायत पर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर समेत 5 पुलिसवालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. इन पुलिसवालों ने वैक्सीनेशन कैंप में ग्रामीणों से मारपीट की थी. इस दौरान हुई झड़प में एक पुलिसवाले की वर्दी फट गई जिसके बाद ग्रामीणों के खिलाफ केस दर्ज किया गया और 2 थानों की पुलिस ने घरों में घुसकर महिलाओं से मारपीट और अभद्रता की थी.



फाइल फोटो- अक्षय (मृतक)

26 जुलाई की शाम को बिनौली के रंछाड गांव में टीकाकरण के लिए भीड़ उमड़ी थी. व्यवस्था बनाने के लिए मौके पर पुलिस को बुलाया गया लेकिन पुलिस ने वहां तीन युवकों की बुरी तरह पिटाई कर दी. इस दौरान ग्रामीणों से पुलिस की झड़प हुई और एक पुलिसवाले की वर्दी फट गई. इस मामले को बिनोली के इंस्पेक्टर चंद्रकांत पांडे ने पुलिस पर हमले की शक्ल दी और कुछ नाम जद समेत कई ग्रामीणों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया.



बदला लेने के लिए  बिनौली इंस्पैक्टर चंद्रकांत पांडे अपने और पास के एक थाने की पुलिस को लेकर गांव में घुसे और उन्होंने कई घरों में घुसकर मारपीट और तोड़फोड़ की. आरएसएस नेता श्रीनिवास के घर में घुसकर उनके घर की महिलाओं से मारपीट की गई. महिलाओं से दुर्व्यवहार और गाली-गलौज भी की गई. गनीमत रही कि उस समय कोई पुरुष घर पर नहीं था. मारपीट करने के बाद पुलिस 2 महिलाओं को घर से थाने भी उठा लाई थी.



मुख्यारोपी बिनौली थाना प्रभारी निरीक्षक चन्द्रकांत पांडेय

रात करीब 9:30 बजे श्रीनिवास के बेटे अक्षय की लाश खेत में एक पेड़ पर लटकी हुई मिली. टीकाकरण शिविर पर हुए मामले में पुलिस ने अक्षय को आरोपी बनाया था और उसकी तलाश कर रही थी. अपने परिवार पर पुलिस की ज्यादती देखकर अक्षय ने सुसाइड कर लिया. इसके बाद बीजेपी, राष्ट्रीय लोकदल, सपा और बाकी पार्टियों के नेता ग्रामीणों के साथ पुलिस के खिलाफ मौके पर पहुंच गए और जमकर हंगामा किया. पुलिस अफसर मौके पर पहुंचे और किसी तरह लोगों को शांत किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा. कार्रवाई के आश्वासन के बाद ग्रामीण और नेता मौके से चले गए.


मौके पर इकठ्ठा ग्रामीण

यह मामला रात में ही लखनऊ तक पहुंच चुका था. बीजेपी के बड़े नेताओं के हस्तक्षेप के बाद एसपी अभिषेक सिंह ने थाना इंचार्ज इंस्पैक्टर चन्द्रकांत पांडेय समेत 11 पुलिसवालों को लाइन हाजिर कर दिया है. आरएसएस नेता श्रीनिवास की तहरीर पर बिनौली थाने के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर चंद्रकांत पांडे, एसएसआई उधमसिंह, हेड कांस्टेबल सलीम और दो सिपाही अश्विन और मुरली के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है. एसपी अभिषेक सिंह से इस बारे में आधिकारिक बयान के लिए फोन पर संपर्क किया गया लेकिन उनका फोन नही उठ सका. 



Report- Vipin Solanki


नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें