मिशन 2024 के तहत विपक्षी दलों को एकजुट करने के लिए ममता का दिल्ली दौरा

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को अपने पांच दिवसीय 'मिशन दिल्ली' की शुरुआत कर दी है।
     
  • देश
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को अपने पांच दिवसीय 'मिशन दिल्ली' की शुरुआत कर दी है। पश्चिम बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता पर काबिज होने वाली ममता बनर्जी का विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद यह पहला दिल्ली दौरा है। ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे को 2024 के लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है और उनकी कोशिश है कि वह बीजेपी के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी नेताओं को एकजुट कर सकें। 


तृणमूल कांग्रेस की ओर से सीएम ममता बनर्जी के जारी कार्यक्रम के मुताबिक, ममता बनर्जी आज शाम चार बजे पीएम मोदी से मुलाकात करेंगी। इसके बाद वो कांग्रेस नेता कमलनाथ, आनंद शर्मा और अभिषेक मनु सिंघवी समेत कई और नेताओं से भी मिलेंगी। टीएमसी सूत्रों ने कहा कि अपने दौरे में ममता बनर्जी संसद भी जा सकती हैं।


कांग्रेस नेताओं से होगी मुलाकात

गौरतलब है कि, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी में हैं। मानसून सत्र के दौरान दिल्ली दौरा कर रही सीएम ममता बनर्जी इसी को लेकर कांग्रेस के नेताओं से मुलाकात कर रही हैं। इससे पहले सोमवार को ममता बनर्जी दिल्ली में अपने भतीजे और लोकसभा सांसद अभिषेक बनर्जी के आवास पर वरिष्ठ पत्रकार विनीत नारायण से भी मुलाकात की थीं।



 ममता के दिल्ली दौरे पर बीजेपी का कटाक्ष


सीएम ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे को लेकर बीजेपी ने कटाक्ष किया है. वहीं, ममता बनर्जी के दिल्ली दौर पर निशाना साधते हुए बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि बंगाल की सीएम फर्जी वैक्सीनेशन कैंप केस, चुनाव बाद हिंसा और अन्य मुद्दों को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रही हैं और इससे बचने के लिए वह कुछ दिन के लिए राज्य से बाहर रहना चाहती हैं। दिलीप घोष का कहना है कि ममता बनर्जी का दिल्ली दौरा कोई मायने नहीं रखता, वो विपक्षी दलों को कभी एकजुट नहीं कर पाएंगी।



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें