जहर खाकर सूदखोर की शिकायत की और अस्पताल में मर गया देवेन्द्र

ठेकेदार रिंकू गुर्जर ने पैसा वसूली के लिए देवेंद्र और उसके परिवार का उत्पीड़न शुरू कर दिया. वह देवेंद्र के घर आता और उसकी पत्नी, बच्चों को गंदी-गंदी गालियां देता था. देवेंद्र ने इसका विरोध किया तो ठेकेदार ने उसे और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दी
     
  • उत्तर प्रदेश
मेरठ में सूदखोर से तंग युवक ने जहर खाकर अपनी जान दे दी है. अपनी मौत से पहले युवक पुलिस आफिस पहुँचा और उसने पुलिस अफसरों से सूदखोर की ज्यादती की शिकायत की. पुलिस अफसरों ने आनन-फानन में युवक को अस्पताल भिजवाया लेकिन उसकी जान नही बचाई जा सकी.

शहर के गढ़ रोड स्थित गॉव सरायकाजी निवासी देवेंद्र (34) ने भावनपुर के ठेकेदार रिंकू गुर्जर से डेढ़ साल पहले एक लाख रुपये कर्जा लिया था. कर्जे पर 5 रुपये हजार की ब्याज तय हुई थी. डेढ़ साल में देवेंद्र ठेकेदार को ब्याज के ढाई लाख रुपये अदा कर चुका था. लेकिन ठेकेदार अभी भी उससे मूलधन एक लाख रुपया वापस मांग रहा था.


कोरोना महामारी में हुए लॉकडाउन की वजह से सूदखोर ठेकेदार को देवेंद्र अब और पैसा देने की हालत में नही था. ठेकेदार रिंकू गुर्जर ने पैसा वसूली के लिए देवेंद्र और उसके परिवार का उत्पीड़न शुरू कर दिया. वह देवेंद्र के घर आता और उसकी पत्नी, बच्चों को गंदी-गंदी गालियां देता था. देवेंद्र ने इसका विरोध किया तो ठेकेदार ने उसे और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दी.

 
ठेकेदार की दबंगई से तंग देवेंद्र ने आज जहर खा लिया और इसी हालात में वह पुलिस आफिस में एसएसपी से मिलने पहुँच गया. इस वक़्त तक एसएसपी जा चुके थे लेकिन एसपी क्राइम रामअरज और एसपी ट्रेफिक जितेंद्र श्रीवास्तव वहां मौजूद थे. देवेंद्र जब अपनी फरियाद कहने के लिए उनसे मिला तो उसने उन्हें जहर खाने वाली बात भी बताई. अफसरों ने उसकी बात सुनकर उसे तत्काल इलाज के लिए पुलिस वाहन से मेडिकल कॉलेज भिजवाया. मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान देवेंद्र ने दम तोड़ दिया.

एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि पीड़ित के परिजनों से मामले में लिखित शिकायत ली जा रही है. आरोपी की तलाश में पुलिस दबिशें दे रही है. केस दर्ज करने के बाद आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धाराओं के अन्तर्गत कानूनी कार्रवाई होगी.  
Report- Shuaib Zia

नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें