डूडा के अफसरो की शिकायत, पीएम आवास योजना में रोहिंग्या भी ले रहे लाभ, डीएम ने दिए जांच के आदेश

यूपी एटीएस ने ग़ाज़ियाबाद के रेलवे स्टेशन से 5 रोहिंग्या लोगो को गिरफ्तार करने के बाद लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। इसकी जानकारी मिलते ही गाजियाबाद के लोनी विधानसभा से विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने चिंता जाहिर करते हुए गाजियाबाद के डीएम को पत्र लिखा है।
     
  • उत्तर प्रदेश
यूपी एटीएस ने ग़ाज़ियाबाद के रेलवे स्टेशन से 5 रोहिंग्या लोगो को गिरफ्तार करने के बाद लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। इसकी जानकारी मिलते ही गाजियाबाद के लोनी विधानसभा से विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने चिंता जाहिर करते हुए गाजियाबाद के डीएम को पत्र लिखा है। नंदकिशोर गुर्जर का कहना है कि लोनी क्षेत्र में बांग्लादेशी और रोहिंग्या की तागाद बढ़ती जा रही है। उन्होंने आरोप लगाया है कि जिले के यूपी डूडा के अधिकारियों ने ऐसे ही बांग्लादेशियों से फर्जी दस्तावेजो के आधार पर 80 फीसदी आवास प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवंटित करवाये हैं। लोनी विधायक का आरोप है कि कुछ लोगो का ये संगठित गिरोह है, जो आवास का आवंटन कराने में कूटरचित दस्तावेजो का इस्तेमाल करता है। जिसमे लोगो के आधार कार्ड के से लेकर तमाम दस्तावेज बनवाये जाते है और फिर उन्ही के आधार पर आवासों के आवंटन के आवेदन दिए जाते है। पत्र में डीएम से मांग की गई है कि एक कमेटी बनाकर इसकी जांच कराई जाए और डूडा में तैनात अफसरो की संलिप्तता पाए जाने पर उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्यवाई करने की माँग की हैं। 



विधायक पहले भी कर चुके है बांग्लादेशियों और रोहिंग्या के अवैध रूप से रहने की शिकायतें।
लोनी के विधायक नंदकिशोर गुर्जर इससे पहले भी लोनी दिल्ली से सटे हुए इलाकों में अवैध रूप से रह रहे कथित बांग्लादेशियों और रोहिंग्या के लिए कर पहले भी शिकायत कर चुके हैं। उनका कहना है कि ऐसे लोग देश की सुरक्षा के साथ-साथ लोनी की सुरक्षा के लिए भी खतरनाक है। साथ ही दिल्ली के कई अति सुरक्षित प्रतिष्ठान भी उनके निशाने पर हो सकते है। इसकी जानकारी स्थानीय स्तर पर लोकल इंटेलिजेंस को भी नही है।



कब कब हुई है रोहिंग्या लोगो की गिरफ्तारी

जिले के लिए परेशानी इस बात की है कि 9 जून को भी UPATS ने मसूरी इलाके से नूर आलम और उसके साथी आमिर हुसैन को भी गिरफ्तार किया था। नूर आलम का साला अज़ीजुल्लाह जनवरी में पहले ही लखनऊ से गिरफ्तार किया गया था। उसी के जानकारी के बाद से यूपी एटीएस नूर आलम उर्फ रफीक की तलाश में थी। उसके पास से भी भारत के आधार कार्ड समेत अन्य दस्तावेज मिले थे।



विधायक के आरोपों पर बोले डीएम कराएंगे जांच।

विधायक द्वारा आवास आवंटन को लेकर डूडा विभाग की शिकायत के मामले में डीएम राकेश कुमार सिंह ने भारत समाचार को बताया कि विधायक द्वारा लगाए गए आरोपो की जांच कराई जाएगी। डीएम ने कहा कि विधायक जी की तरफ से कोई भी नाम सहित शिकायत नही दी गयी है। इसके लिए विस्तृत जांच कराई जाएगी। शिकायत मिली है कि पहले लोगो के द्वारा फर्जी तरीके से आधार लार्ड बनाकर उसी के आधार पर आगे की आवास के आवेदन कोई जाते है। अगर शिकायत आधार की है तो उसके बारे में (UIDAI) को भी जानकारी भेजी जाएगी।



<iframe width="500" height="500" src="https://www.youtube.com/embed/6pJ4ystHYDk" title="YouTube video player" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; clipboard-write; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>
नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें