सियासत : राजा भैया और शिवपाल आएंगे साथ ? किसका बिगाड़ेंगे सियासी खेल...

     
  • राज्य

उत्तर प्रदेश मे विधानसभा चुनाव नज़दीक है जिसके मद्देनजर सभी राजनैतिक पार्टियां अपनी सियासी रोटियां सेकने में लग गई है। छोटे बड़े सभी दल अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में आज राजा भैया और शिवपाल यादव की मुलाकात उन्नाव में हुई। दोनों के बीच कुछ देर तक बातचीत भी हुई। हालांकि, उन्होंने यह खुलासा नहीं किया कि आखिर बातचीत में तय क्या हुआ या आगे की क्या रणनीति बनी है? बताते चलें कि एक दिन पहले ओवैसी, राजभर और चंद्रशेखर ने भी शिवपाल यादव से उनके लखनऊ आवास पर मुलाकात की थी।

उन्नाव पहुंचे राजा भैया जनसेवा संकल्प यात्रा को लेकर नीतियों का बखान कर रहे थे। इसी दौरान प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव कानपुर जाते वक्त उन्नाव में रुके। कार से उतरने के बाद राजा भैया से गले गले मिले और हाथ मिलाया। कुछ देर की बातचीत के बाद शिवपाल सिंह कार में बैठकर कानपुर की ओर रवाना हो गए।


शिवपाल सिंह यादव और राजा भैया की हुई मुलाकात उन्नाव में चर्चा का विषय बन गई है। दोनों पार्टियों के साथ ही अन्य पार्टियों में भी हलचल तेज हो गई है। वही दोनों लोगों ने गठबंधन जैसे कोई बात स्वीकार नहीं की है। राजा भैया ने कहा कि शिवपाल यादव से 1996 से हमारे पारिवारिक रिश्ते हैं। यहां बस औपचारिक मुलाकात हुई है। गठबंधन जब होगा तो सबको बताया जाएगा। वहीं शिवपाल यादव ने भी किसी भी तरह के गठबंधन से इंकार किया है।


नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें