आजमगढ़ : दुष्कर्म के आरोपियों पर कार्रवाई न होने से आहत रेप पीड़िता ने थाने में की आत्महत्या, SHO सस्पेंड

आजमगढ़। दुष्कर्म के आरोपियों पर कार्रवाई न होने से आहत महिला ने खौफनाक कदम उठाया है। रेप पीड़िता ने विषाक्त पदार्थ खाकर थाना परिसर में जान दे दी है। रेप पीड़िता एक हफ्ते से न्याय के लिए थाना और सीओ ऑफिस के चक्कर लगा रही थी। आरोपियों पर कार्रवाई ने होने से आहत महिला ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली है।
     
  • उत्तर प्रदेश

आजमगढ़। दुष्कर्म के आरोपियों पर कार्रवाई न होने से आहत महिला ने खौफनाक कदम उठाया है। रेप पीड़िता ने विषाक्त पदार्थ खाकर थाना परिसर में जान दे दी है। रेप पीड़िता एक हफ्ते से न्याय के लिए थाना और सीओ ऑफिस के चक्कर लगा रही थी। आरोपियों पर कार्रवाई ने होने से आहत महिला ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली है।


रेप पीड़िता के पति ने पुलिस पर दुष्कर्म के आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया है। एसपी ने थानाध्यक्ष को सस्पेंड कर दिया है। ये मेहनाजपुर थाना क्षेत्र का मामला है। वहीं परिवारवालों का कहना है कि पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी की बजाय उन्हें बचाने में लगी है। इस बीच पीड़िता आज मेहनाजपुर थाने में पहुंच गई। पुलिस के कामकाज के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए उसने जहर खाकर जान ले ली।


मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में थाने के एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि रेप पीड़िता पिछले 1 हफ्ते से थाने और सीओ ऑफिस के चक्कर लगा रही थी। लेकिन जब उसकी सुनवाई नहीं हुई तो उसने खुदकुशी करने का फैसला कर लिया।



नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें