-
BREAKING NEWS

सावधान! हैंड सैनिटाइजर के गलत प्रयोग से जा सकती है बच्चों की आंखों की रोशनी

  • Pawan Kumar Kaushal

  • Published:22-01-2021 10:27:13
  • भारत हेल्थ

कोरोना महामारी ने पूरे विश्व में अपना असर छोड़ा। इस लाइलाज बीमारी से बचाव के लिए सावधानी बरतना ही एक विकल्प सामने आया। जिसमें हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करना काफी महत्वपूर्ण रहा। लेकिन अब एक शोध में सामने आया है कि इसके उपयोग से बच्चों की आंखो पर गहरा असर पड़ रहा है।


एक फ्रेंच स्टडी के अनुसार, 2019 की तुलना में 2020 हैंड सैनिटाइजर की वजह से बच्चों की आंखें खराब होने के मामलों में सात गुना बढ़ोतरी है। हैंड सैनिटाइजर के उपयोग गलती से भी बच्चों की आंखों में छिड़काव करने पर उनकी आंखों में प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। पिछले वर्ष अगस्त माह में जितनी भी आंखो में केमिकल की वजह से हुई समस्या से सम्बंधित मामले दर्ज किए गए उसमें से 15 प्रतिशत हैंड सैनिटाइजर से सम्बंधित थे।


 वर्ष 2020 में सार्वजनिक स्थानों पर बच्चों की आंखों मे गलती से हैंड सैनिटाइजर के छिड़काव के 63 मामले दर्ज किए गए हैं। जबकि वर्ष 2019 में एक भी ऐसा मामला दर्ज नहीं किया गया था। फ्रेंच पोएजन कंट्रोल सेंटर (पीसीसी) रिसर्च ग्रुप के वैज्ञानिकों ने एक स्टडी में लिखा कि, विश्वभर में हैंड सैनिटाइजर के इस्तेमाल के बढ़ने से बच्चों के लिए अनजानी समस्या खड़ी हो गई है।


इसके अतिरिक्त दो भारतीय वैज्ञानिकों ने भी माना है कि, दो ऐसे बच्चों का अस्पताल में इलाज हुआ था, जिनकी आंखों में हैंड सैनिटाइजर गलती से पहुंच गया था। डॉक्टर्स ने लिखा कि, छोटे बच्चों को इसका गंभीर खतरा हो सकता है और आंखों में सैनिटाइजर जाने की वजह से बच्चे की आंखों की रोशनी भी जा सकती है। वैज्ञानिकों ने कहा कि, हम छोटे बच्चों को बड़े लोगों की निगरानी में हैंड सैनिटाइजर को इस्तेमाल करने की ही सलाह देंगे।

 
नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें